श्री कृष्ण और द्रौपदी के रक्षाबंधन से जुड़ी कहानी

श्री कृष्ण और द्रौपदी के रक्षाबंधन से जुड़ी कहानी

श्री कृष्ण और द्रौपदी की रक्षाबंधन से जुड़ी कहानी


Raksha Bandhan 2019

जब भगवान श्री कृष्ण और शिशुपाल के बीच में युद्ध चल रहा था तो यद्ध के समय भगवान श्रीकृष्ण की तर्जनी ( अंगूठे के बाद वाली अंगुली का नाम तर्जनी है। ) में चोट लग गई थी, द्रौपदी ने रक्त का रोकने लिए अपनी साड़ी का एक किनारा फाड़कर  भगवान श्रीकृष्ण की तर्जनी पर साड़ी का एक टुकड़ा बांध दिया था भगवान श्रीकृष्ण का इससे अंगूठे के बाद वाली अंगुली का रक्त रूक गया था  और भगवान श्री कृष्ण ने इस कर्ज को चुकाने के लिए चीरहरण से द्रोपति की लाजो चाहिए तभी से लोग भाई बहन के त्यौहार इस प्यार को राखी के त्योहार के रूप में मनाने लगे । 
यदि आपका यह कहानी अच्छी लगी है तों आप इस पोस्ट को अधिक शेयर करें जिससे ओर लोग श्री कृष्ण और द्रौपदी की रक्षाबंधन से जुड़ी कहानी जोन सकें 
यह कहानी अंग्रेजी भाषा भी हैं

jab bhagavaan shree krshn aur shishupaal ke beech mein yuddh chal raha tha to yaddh ke samay bhagavaan shreekrshn kee tarjanee ( angoothe ke baad vaalee angulee ka naam tarjanee hai. ) mein chot lag gaee thee, draupadee ne rakt ka rokane lie apanee sari ka ek kinaara phaadakar bhagavaan shreekrshn kee tarjanee par sari ka ek tukada baandh diya tha bhagavaan shreekrshn ka isase angoothe ke baad vaalee angulee ka rakt rook gaya tha aur bhagavaan shree krshn ne is karj ko chukaane ke lie cheeraharan se dropati kee laajo chaahie tabhee se log bhaee bahan ke tyauhaar is pyaar ko raakhee ke tyohaar ke roop mein manaane lage . yadi aapaka yah kahaanee achchhee lagee hai ton aap is post ko adhik sheyar karen jisase or log shree krshn aur draupadee kee rakshaabandhan se judee kahaanee jon saken
Happy raksha Bandhan, Happy raksha Bandhan 2019,raksha Bandhan se Judi kahani, Bhagwan Shri Krishna aur Draupadi ki raksha Bandhan Shri Krishna,raksha-bandhan-story
Reactions

Post a Comment

0 Comments