बुधवार को नया काम शुरू करना चाहिए क्यों ?

बुधवार को नया काम शुरू करना चाहिए क्यों ?

 जय श्री गणेशाय नमः

बुधवार को नया काम शुरू करना चाहिए क्यों ? 



राजस्थान,जयपुर:- नया काम शुरू किया जाता है चाहे कोई भी हो तो बहुत सारी बातों का ध्यान रखा जाता है क्योंकि काम में कोई समस्या न आए और सुख-समृद्धि धन वैभव से सब संपन्न हो जाए। ऐसे समय पर तो बहुत सारे  व्यक्ति मान्यताओं से जुड़ी बातों पर भी मन में एक बार विचार करते हैं। ज्योतिष विद्वानों के कहे अनुसार जब व्यक्ति की कुंडली में गुरू या शुक्र की दशा चल रही हो तो उस समय नए काम को आरंभ करना चाहिए। अगर शनि की दशा शुभ प्रभाव दे रहे हों तो भी नया काम आरंभ करना शुरू रहता है।   काम में कोई अचन नहीं आती है इसलिए बुधवार को व्यक्ति नए काम की शुरुआत करता है और इन ज्योतिष विद्वानों की सलाह लेता है। इसलिए बुधवार का दिन अच्छे काम के लिए शुभ माना जाता है क्योंकि बुध ग्रह की प्रकृति गतिशील, मनभावन और शांत मानी गई है। इस दिन के प्रधान देव गणेश हैं। वह अपने भक्तों के किसी भी काम में बाधा नहीं आने देते है बुधवार के दिन घर से निकलने से पहले खीरा जेब मैं रखें और धनिया खाएं कभी काम में बाधा नहीं आएगी। 




इस दिन धन का लेन-देन नहीं करना चाहिए। बुधवार को जमा किया गया धन, बरकत देता है। कोई व्यक्ति कर्ज से परेशान हैं तो ऋणहर्ता गणेश स्तोत्र का शुक्ल पक्ष के बुधवार से आरंभ करके हर रोज पाठ करें। 

गाय का 3 बुधवार को ब्रह्म मूहर्त में सवा पाव मूंग की दाल उबालकर घी और शक्कर के साथ मिलाकर खिलाएं जल्द ही कर्ज से मुक्ति मिलेगी।   

सभी व्यक्ति को इस मंत्र का जाप करना :- जय श्री गणेशाय नमः

 जय श्री गणेशाय नमः

        जय श्री गणेशाय नमः 

             जय श्री गणेशाय नमः  


इस मंत्र को व्यक्ति को लगभग 50 बार जाप करने से व्यक्ति के घर की सुख संपदा और धन वैभव बना रहेगा इससे घर की शांति भंग नहीं होगी और गणेश जी की अपार कृपा रहेगी


दूसरा मंत्र:- 

ॐ गं गणपतये नमः 

ॐ गं गणपतये नमः 

ॐ गं गणपतये नमः

ॐ गं गणपतये नमः

ॐ गं गणपतये नमः

ॐ गं गणपतये नमः

ॐ गं गणपतये नमः

 इस मंत्र के जाप करने से व्यक्ति के मन की शांति और व्यक्ति के रुके हुए कार्य को पूर्ण होने में अधिक समय नहीं लगता और न्यून समय में कार्य संपन्न हो जाते है व्यक्ति को इस मंत्र का 50 बार जाप करना चाहिए। 
सुबह पहले गणेश जी की आरती करनी चाहिए जिससे घर की सुख संपदा बनाए 
Reactions

Post a Comment

0 Comments